Homeलाइफस्टाइलआस्था का नया आयाम! आदि कैलाश और ओम पर्वत के लिए हवाई...

आस्था का नया आयाम! आदि कैलाश और ओम पर्वत के लिए हवाई यात्रा शुरू

- Advertisement -spot_img

आदि कैलाश और ओम पर्वत के दर्शन का दिव्य अनुभव – हेलीकॉप्टर यात्रा

नोएडा, 3 अप्रैल, : धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से एक अनूठी पहल के अंतर्गत, उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड (UTDB) ने 1 अप्रैल, 2024 सोमवार को नोएडा स्थित ट्रिप टू टेम्पल्स के सहयोग से भारत की पहली हेलीकॉप्टर यात्रा शुरू की है। यह हवाई यात्रा पवित्र आदि कैलाश और ओम पर्वत के लिए शुरू की गई है। ऐतिहासिक सोमवार को, पहली उद्घाटनी उड़ान ने पवित्र आदि कैलाश और ओम पर्वत के दिव्य और मनोरम हवाई दर्शन कराए। इस अनूठी पहल का उद्देश्य मौसमी बाधाओं और चुनौतीपूर्ण ऊबड़-खाबड़ भूभाग के कारण आने वाली समस्याओं से निजात दिलाते हुए इन पवित्र स्थलों तक आवागमन को सुगम बनाना और बढ़ाना है, ताकि भक्तों को बड़ी संख्या में इस आध्यात्मिक यात्रा के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। UTDB ने यात्रा पंजीकरण को स्वीकार और नॉन-हेली पार्ट संचालन प्रबंधन करने के लिए ट्रिप टू टेम्पल्स को अधिकृत किया है

परंपरागत रूप से, जो तीर्थयात्री आदि कैलाश में भगवान शिव और पार्वती के दिव्य दर्शन पाने या ओम पर्वत के अद्भुत प्राकृतिक नज़ारे को देखने की इच्छा रखते थे, उन्हें यात्रा के दौरान कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ता था। कई दिनों तक पैदल चलने के बाद ही वे इन पवित्र स्थलों तक पहुँच पाते थे। वर्ष 2021 में, कुछ सड़कों के निर्माण के बाद यात्रा को कार यात्रा और पैदल यात्रा के संयोजन में बदल दिया गया था, फिर भी यह यात्रा खास महीनों तक ही सीमित रहती थी। हालाँकि, हेलीकॉप्टर यात्रा के शुरू होने के साथ, एक नए परिवर्तनकारी अनूठे अध्याय का शुभारंभ हुआ है।

1 अप्रैल को, 18 तीर्थयात्रियों ने इस ऐतिहासिक हेलीकॉप्टर यात्रा का आनंद लिया, जिसने इन पवित्र स्थलों के दर्शन के लिए एक नया द्वार खोल दिया है। तीर्थयात्रियों में से एक, ब्यासदेव राणा ने कहा, “इस उद्घाटनी यात्रा के माध्यम से जीवन भर के सपने को साकार होते देख मैं अत्यंत हर्षित हूँ। ट्रिप टू टेम्पल्स और उत्तराखंड सरकार की इस सहयोगात्मक पहल ने न केवल मेरे लिए, बल्कि समय और शारीरिक सीमाओं से जूझ रहे कई अन्य लोगों के लिए भी इन पवित्र स्थलों की यात्रा को संभव बना दिया है।” उन्होंने आगे कहा कि वरिष्ठ नागरिकों के लिए तो यह बेहद दुर्लभ अवसर है।

जहां उत्तराखंड की लौकिक व्यास घाटी के बीच स्थित, आदि कैलाश आध्यात्मिक ज्ञानोदय का एक धाम है, वहीं दूसरी ओर ॐ (Om) प्रतीक के समान दिखने वाला ओम पर्वत, भारत, नेपाल और तिब्बत की सीमाओं पर स्थित है। पहले, ओम पर्वत के दर्शन के लिए सबसे निकटतम स्थल नाभीढांग हुआ करता था, जहां केवल कठिन ट्रेकिंग के माध्यम से ही पहुँचना संभव था। हालाँकि, ट्रिप टू टेम्पल्स और उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड (UTDB) के संयुक्त प्रयासों ने तीर्थयात्रा के परिदृश्य में एक क्रांति ला दी है। अब भक्त एक ही दिन में दोनों स्थलों के हवाई दर्शन कर सकते हैं और उसी दिन वापस लौट सकते हैं।

15 अप्रैल से, एक और रोमांचक हवाई सुविधा का शुभारंभ होने जा रहा है। पिथौरागढ़ से प्रस्थान करने वाली पांच दिवसीय हेलीकॉप्टर यात्रा तीर्थयात्रियों की यात्रा आसान बनाने के साथ साथ एक अद्वितीय अनुभव भी प्रदान करेगी। हेलीकॉप्टर सीधे पवित्र स्थलों के निकट उतरेंगे, जिसके कारण तीर्थयात्रियों को लंबी पैदल यात्रा नहीं करनी पड़ेगी।

विकास मिश्रा, ट्रिप टू टेम्पल्स के सीईओ ने इस अभिनव प्रयास के गहन महत्व को उत्साहपूर्वक व्यक्त करते हुए कहा, “हमारा मिशन केवल पहुँच को आसान बनाना नहीं बल्कि इससे कहीं आगे है; इसका आशय भौतिक सीमाओं से परे एक आध्यात्मिक जुड़ाव को बढ़ावा देने है। इस अद्वितीय तीर्थयात्रा अनुभव को संयोजित करके, हम न केवल पवित्र स्थलों तक एक सुगम यात्रा प्रदान कर रहे हैं, बल्कि भक्तों के जीवन में आध्यात्मिक समृद्धि के सूत्र भी बुन रहे हैं। यह पहल हमारी विरासत का सम्मान करने, समुदायों को सशक्त बनाने और आत्मा को छू लेने वाले परिवर्तनकारी अनुभवों को प्रदान करने के प्रति हमारी अटूट प्रतिबद्धता का प्रमाण है। अपने सामूहिक प्रयासों के माध्यम से, हम तीर्थयात्रा के परिदृश्य को फिर से परिभाषित करना चाहते हैं, यह सुनिश्चित करते हुए कि हर साधक, चाहे उनकी शारीरिक सीमाएं कुछ भी हों, आत्म-खोज और दिव्य जुड़ाव की एक उत्कृष्ट यात्रा पर निकल सके।”

आगामी शीतकालीन सत्र की यात्रा एक अग्रणी पहल के रूप में स्थापित होने वाली है, जो बर्फ से ढकी व्यास घाटी, आदि कैलाश और ओम पर्वत के मनोरम दृश्यों की अनुभूति कराएगी। ज्योलिंगकोंग और नाभीढांग से कठिन ट्रेक की जगह हेलीकॉप्टर उड़ानों और ऑल टेरेन व्हीकल (ATVs) का उपयोग किया जाएगा, जिससे सर्दियों में भी बर्फीले इलाकों से होकर जाने पर भी एक आरामदेह यात्रा की गारंटी मिलेगी।

https://www.triptotemples.com/

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -spot_img
Related News
- Advertisement -spot_img